HDD क्या होती है? HDD कैसे काम होती है?

अगर आप कंप्यूटर या लैपटॉप को इस्तेमाल करते है तो आप हार्डडिस्क शब्द से भी वाकिफ होंगे। आपने अपने कंप्यूटर में कभी न कभी हार्डडिक्स को देखा ही होगा। लेकिन क्या आप जानते है की यह हार्डडिस्क काम कैसे करती है? या हार्डडिस्क के फायदे और नुक्सान क्या होते है? या फिर HDD की Full Form क्या होती है?

अगर नहीं, तो आज का आर्टिकल आपके लिए ही है। इस आर्टिकल में मैं आपको बताऊंगा की HDD की Full Form क्या होती है? HDD की Full Form हिंदी में क्या होती है? इसके साथ HDD क्या होती है? HDD कैसे काम करती है? और अंत में HDD के फायदे और नुक्सान क्या होते है? तो इन सब को जानने के लिए इस आर्टिकल को शुरू से अंत तक पूरा पढ़े।

HDD Full Form क्या होती है?

HDD की Full Form “Hard Disk Drive” होती है।

HDD Full Form In Hindi

HDD की Full Form हिंदी में “हार्ड डिस्क ड्राइव” ही होती है।

HDD क्या होती है?

हार्ड डिस्क एक इलेक्ट्रोमैकेनिकल डाटा स्टोरेज डिवाइस है, जो मैगनेटिक स्टोरेज का उपयोग करके डिजिटल डेटा को स्टोर करता है और एक या अधिक कठोर तेजी से चुंबकीय सामग्री के साथ coated platters को घुमाता है।

अगर आसान शब्दों में कहूँ तो हार्डडिस्क एक स्टोरेज डिवाइस है जिसमें डाटा को स्टोर किया जाता है। इसका इस्तेमाल हम डाटा जैसे फोटो, वीडियो, ऑडियो, डॉक्यूमेंट को स्टोर करने के लिए करते है।

Top 10 Computer Tricks In Hindi

HDD कैसे काम करती है?

हार्डडिस्क में एक गोल आकर की एक कठोर डिस्क होती है यह डिस्क Platter होती है। यह प्लैटर एलुमिनियम का बना होता है। इस डिस्क में मैग्नेटिक स्टोरेज का उपयोग करके डिजिटली डाटा स्टोर किया जाता है। इसे मैगनेटिक बनाने के लिए इस पर Cobalt और Platinum की coating होती है। इसके बाद इस पर कार्बन की कोटिंग होती है।

hard disk diagram

डाटा को read और write करते समय यह डिस्क बहुत तेज़ी से घूमती है। इस गति को हम RPM से नापते है। यह RPM जितना ज्यादा होता है। हार्डडिस्क उतनी ही फ़ास्ट होती है तो हार्डडिस्क खरीदते समय इसके RPM को जरूर देखे।

हार्डडिस्क में स्टोर डाटा को पढ़ने के लिए इसके ऊपर head लगा होता है जो इस डाटा को पढता है। किसी भी हार्डडिस्क में एक प्लैटर के लिए दो head होते है। एक head प्लैटर के ऊपर लगा होता है और एक ठीक प्लैटर के निचे लगा होता है। यह head प्लैटर को बिलकुल भी छूता नहीं है।

अगर head प्लैटर से टच हो गया तो हार्डडिस्क ख़राब हो जाएगी। आपको देखने से ऐसा लगेगा की head प्लैटर को छू रहा है लेकिन यह प्लैटर को टच नहीं करता है। हेड प्लैटर के जितना नज़दीक होगा। यह उतना ही डाटा को अच्छी तरह से पढ़ सकता है। सामान्यतः यह प्लैटर से 10 नैनोमीटर की दुरी पर होता है।

HDD के फायदे क्या है?

Cheap Price

हार्डडिस्क बहुत ही सस्ती होती है। अगर आप एक एसएसडी खरीदते है तो वह बहुत ही ज्यादा महंगी होती है और वहां पर स्टोरेज भी कम मिलती है जबकि हार्डडिस्क की कीमत किसी भी स्टोरेज डिवाइस से कम होती है। सस्ती कीमत होने पर इसे लोग ज्यादा खरीदना पसंद करते है।

More Space

हार्डडिस्क में आपको अधिक स्पेस मिलता है। मार्किट में आप 100 TB या उससे भी अधिक स्पेस की हार्डडिस्क ले सकते है।

HDD के नुक्सान क्या है?

Weight & Size

हार्डडिस्क का वजन और आकार बहुत ज्यादा होता है जिससे यह लैपटॉप और कंप्यूटर में ज्यादा जगह घेरता है और उसे भारी भी बनाता है। आज के आधुनिक लैपटॉप और कंप्यूटर में हार्डडिस्क का बहुत ही कम इस्तेमाल होता है। आज ज्यादातर एसएसडी का ही इस्तेमाल करते है।

Power Consumption

हार्डडिस्क में बिजली की खपत भी बहुत ज्यादा होती है क्योंकि यह एक मैकेनिकल डिवाइस है और इसमें मूविंग पार्ट्स होते है तो इसलिए इसमें बिजली की खपत ज्यादा होती है।

Speed

हार्डडिस्क की स्पीड एसएसडी के मुकाबले बहुत कम होती है। हलाकि आज आधुनिक हार्डडिस्क पहले के मुकाबले बहुत बेहतर हो गई है लेकिन फिर भी एसएसडी के सामने यह आज भी बहुत ही धीमे चलती है। धीमे हार्डडिस्क की वजह से हार्डडिस्क में इनस्टॉल सॉफ्टवेयर भी धीमे ही खुलते है। यहाँ तक की इससे विंडो भी धीमे बूट होती है।

HDD की History क्या है?

सन 1957 में आईबीएम ने अपने पहले उत्पादन में हार्डडिस्क ड्राइव को 305 RAMAC सिस्टम के एक घटक (component) के रूप में भेजा था। यह लगभग 2 छोटे रेफ्रिजरेटर के आकार की थी और इसमें 52 डिस्क का उपयोग किया गया था। सन 1961 में आईबीएम ने घोषणा की और 1962 में भेज दिया। आईबीएम 1301 डिस्क स्टोरेज यूनिट को जो आईबीएम 350 और इसी तरह के ड्राइव को सपॉर्ट करता है।

IBM Full Form क्या होती है? IBM क्या है?

इसके अलावा 1962 में, आईबीएम ने मॉडल 1311 डिस्क ड्राइव की शुरुआत की, जो एक वॉशिंग मशीन के आकार की थी और एक हटाने योग्य डिस्क (removable disk) पैक पर दो मिलियन वर्ण (characters) संग्रहीत किए थे।

इसके बाद आईबीएम और अन्य से हटाने योग्य पैक ड्राइव के मॉडल, अधिकांश कंप्यूटर प्रतिष्ठानों में आदर्श बन गए और 1980 के दशक की शुरुआत तक 300 मेगाबाइट की क्षमता तक पहुंच गए। सन 1963 में आईबीएम ने 1302 पेश किया, जिसमें दो बार ट्रैक क्षमता और दो बार प्रति सिलेंडर 1301 के रूप में कई ट्रैक थे।

1980 के दशक तक कंप्यूटर में हार्डडिस्क एक महंगी सुविधा थी। लेकिन 1980 के दशक के अंत तक इसकी कीमत काफी हद तक कम हो गई थी।

इसके बाद 2000 से 2010 तक हाई पर्फोमन्स हार्डडिस्क मार्किट में आना शुरू हुआ। और साल 2018 में, सबसे बड़ी हार्ड ड्राइव की क्षमता 15 टीबी थी, जबकि सबसे बड़ी क्षमता एसएसडी की क्षमता 100 टीबी थी।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है की आपको आज का आर्टिकल हार्डडिस्क क्या होती है अच्छा लगा होगा। अगर फिर भी आपका हार्डडिस्क से सम्बंधित को भी सवाल हो तो आप हमे निचे कमेंट करके पूछ सकते है। आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे।

यह भी पढ़े

SSD Full Form क्या होती है? SSD क्या होती है?

Bios Full Form क्या होती है? Bios क्या होता है?

Virus Full Form क्या होती है? Virus क्या होता है?

BUG Meaning In Hindi: Bug क्या होता है?

HDMI Full Form क्या होती है? HDMI क्या होता है?

Authored By Prabhat Sharma
Howdy Guys, I am Prabhat, a full time blogger. I am the founder of the Hindi Tech Review. I love to share articles about technology on the Internet.

Leave a comment