डोक्ससिंग क्या होता है What is doxing

डोक्सिंग क्या होता है What is doxing & Why it is So Scary ?

Technology Explained


डोक्सिंग क्या होता है What is doxing & Why it is So Scary ?

Doxing यह एक ऐसा word है जो शायद आप में से कई लोगो ने सुना भी नहीं होगा। और जिसने सुना होगा उसे पता नहीं होगा। अगर आप इंटरनेट यूज़ करते है तो आपको डोक्सिंग के बारे में पता होना चाहिए। क्योकि कई लोग जाने अनजाने में डोक्सिंग का शिकार बन बैठते है। आज मैं आपको बताऊंगा की डोक्सिंग क्या होता है (what is doxing) और यह कैसे काम करती है और इससे कैसे बच सकते है।

डोक्सिंग क्या होता है What is doxing

अगर मैं आपको आसान शब्दों में डोक्सिंग की परिभाषा बताऊं तो डोक्सिंग एक ऐसा प्रोसेस है जिसमें कोई यूजर किसी कंपनी या किसी भी इंसान की पर्सनल जानकारी जैसे उसका नाम, पता, फ़ोन नंबर आदि इंटरनेट पर सर्च करके निकालता है और फिर उस इनफार्मेशन को बिना उस कंपनी या इंसान की मर्जी के इंटरनेट पर पब्लिश कर देता है। इस प्रोसेस को डोक्सिंग कहते है।

डोक्ससिंग क्या होता है What is doxing

डोक्सिंग काम कैसे करता है?

डोक्सिंग में कोई भी यूजर सबसे पहले आपकी बेसिक डिटेल्स जैसे आपका नाम, आपका ईमेल एड्रेस और आपकी प्रोफइल पिक्चर को निकलता है उसके बाद वह यूजर आपकी इन बेसिक डिटेल्स से आपके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी इकठ्ठा करने की कोशिश करता है जैसे आपका असली नाम, आपकी dob, आपका फ़ोन नंबर, आपके घर का पता, या फिर आपके बैंक अकाउंट की डिटेल्स जैसे आपका बैंक अकाउंट नंबर या आपका IFSC कोड निकालता है। या फिर हैकर किसी भी कंपनी की कॉन्फिडेंशल फाइल को चुरा लेता है जिसे वह कंपनी किसी और के साथ शेयर नहीं करना चाहती है।

अब आप यह सोच रहे होंगे की कोई ऐसा क्यों करेगा। कोई भी हैकर किसी भी कंपनी की फाइल को सार्वजानिक क्यों करेगा या फिर किसी भी इंसान की पर्सनल जानकारी को ऑनलाइन पब्लिश क्यों करेगा। अब ऐसा करने के पीछे उस यूज़र के कई कारण हो सकते है जैसे हो सकता है की वह यूजर आपको जानता हो और आपसे जलता हो या आपकी कामियाबी से जलता हो और आपको निचा दिखाना चाहता हो या हो सकता है की उसकी आपसे कोई व्यक्तिगत दुश्मनी हो या हो सकता है की वह आपको ब्लैकमेल करके आपसे पैसे हडप्पना चाहता हो। या हो सकता है की वह ऐसा इसलिए कर रहा हो ताकि वह उस कंपनी को निचा दिखाना चाहता हो या कई केस में ऐसा भी होता है की प्रतिस्पर्धा वाली कंपनी उस कंपनी को डुबोकर खुद ऊपर उठनाचाहती है औरऐसा करने के लिए उस हैकर को इस कंपनी ने ही हायर किया होता है। या फिर वह हैकर उस कंपनी को ब्लैकमेल करके उससे पैसे हड़प्पना चाहता हो। तो कारण कई सारे हो सकते है।

डोक्सिंग से कैसे बचे

डोक्सिंग से बचने के लिए आपको कोई लम्बा छोड़ा काम नहीं करना है बस आपको इंटरनेट चलाते समय कुछ सावधानिया बरतनी है। इंटरनेट का यूज़ हम अलग अलग काम के लिए करते है लेकिन एक काम हम सब करते है और वह है सोशल मीडिया जैसे व्हाट्सअप. फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, लिंकडिन आदि। इन सब एप्लीकेशन में हमे अपना नाम, पता,  dob और फ़ोन नंबर डालना होता है जोकी अनिवार्य होता है अब कई नए यूजर अपनी इन निजी जानकारी को पब्लिक कर देते है जिससे कोई भी आपकी इन जानकारी का गलत इस्तेमाल कर सकता है। इसिलए आपको खासतोर पर से यह ध्यान रखना है की आपने फेसबुक और बाकी सभी एप्लीकेशन में जो अपनी निजी जानकारी डाली है वह पब्लिक तो नहीं है अगर पब्लिक है तो उसे अभी प्राइवेट कीजिये।

दूसरा जब भी प्ले स्टोर पर कोई नए ऐप आती है तो लोग उसे डाउनलोड करने लगते है और जल्दी जल्दी में बिना पढ़े उस ऐप को कई ऐसी परमिशन दे देते है जोकि उस ऐप को उसकी जरुरत भी नहीं होती है। और आपको यह पता नहीं होता है की जब आप उस ऐप में अपनी निजी जानकारी जैसे अपना नाम, पता, dob, फ़ोन नंबर आदि डालते है तो आपकी यह सारी जानकारी हैकर के सर्वर में सेव हो जाती है जिसका वह गलत इस्तेमाल कर सकता है। और यह बात आपको पता भी नहीं होती है आप उस एप्लीकेशन को थोड़ी देर इस्तेमाल करके डिलीट कर देते है जबकि आपकी निजी जानकारी तो हैकर के पास पहुंच चुकी है। हमेशा आपको ये ध्यान रखना है जब भी आप कोई भी एप्लीकेशन प्ले स्टोर से डाउनलोड करते है तो डाउनलोड करने से पहले उस एप्लीकेशन की rating और review जरूर चेक करले साथ ही साथ उस एप्लीकेशन को किस कंपनी ने बनाया है उसका डेवलपर को जरूर चेक करे, सारी जांच पड़ताल के बाद ही किसी एप्लीकेशन को डाउनलोड करे। इनस्टॉल होने के बाद जब आप उस एप्लीकेशन को configure कर रहे होते है तो खासा ध्यान रखे की आप उस एप्लीकेशन को क्या क्या परमिशन दे रहे है और क्या उस एप्लीकेशन को इस की जरुरत है भी या नहीं जैसे कई गेम माइक्रोफोन और कैमरा एक्सेस करने की परमिशन मांगते है। जबकि गेम को इनकी कोई जरुरत नहीं होती है।

यह भी देखे

Top 10 computer tricks in hindi

Top 10 coolest tech gadgets on amazon india

Top 5 Unique Gadgets Online India

प्ले स्टोर पर कई बार ऐसा हुआ है की कोई एप्लीकेशन अपलोड की गयी और उस एप्लीकेशन ने कई लोगो का डाटा चुरा लिया। ऐसे में तुरंत प्ले स्टोर ऐसी एप्लीकेशन को रिमूव कर देता है।

मुझे उम्मीद है की आपको डोक्सिंग के बारे में पता चल गया होगा कि डोक्सिंग क्या है कैसे काम करता है और इससे कैसे बचा जा सकता है। अगर आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो आप हमे कमेंट करके बता सकते है।

1 thought on “डोक्सिंग क्या होता है What is doxing & Why it is So Scary ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *