माइक्रोसॉफ्ट ने दिल्ली पुलिस की 63 फर्जी कॉल सेंटर पर कार्यवाई करने में मदद करि

माइक्रोसॉफ्ट ने दिल्ली पुलिस की 63 फर्जी कॉल सेंटर पर कार्यवाई करने में मदद करि

Tech News

Sharing is caring!

माइक्रोसॉफ्ट ने दिल्ली पुलिस की 63 फर्जी कॉल सेंटर पर कार्यवाई करने में मदद करि

अक्टूबर में, माइक्रोसॉफ्ट ने दिल्ली पुलिस के साइबर सेल की मदद से 10 कंपनियों को जो अवैध रूप से कॉल सेंटर चला रही थीं जिनके नकली कॉलर ने तकनीकी सहायता कर्मचारियों के रूप में संयुक्त राज्य अमेरिका के विंडोज उपयोगकर्ताओं को ठगा। कार्रवाई जारी रखते हुए, गुड़गांव और नोएडा के कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने अब इसी तरह के घोटाले में शामिल 16 कॉल सेंटर पर हमला करने के बाद 39 और लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन एक व्यापक पैमाने पर।

माइक्रोसॉफ्ट ने दिल्ली पुलिस की 63 फर्जी कॉल सेंटर पर कार्यवाई करने में मदद करि

www.amarujala.com

एक आधिकारिक ब्लॉग पोस्ट में, माइक्रोसॉफ्ट ने खुलासा किया है कि दिल्ली पुलिस ने अब तक 63 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और कानून प्रवर्तन अधिकारियों के साथ रीयल-टाइम डेटा एनालिटिक्स और अन्य महत्वपूर्ण इनपुट शेयर करने के बाद तकनीकी समर्थन घोटाले में लगे कुल 26 कॉल सेंटर का भांडाफोड़ दिया है।

पुलिस द्वारा छापामारे गए 16 अतिरिक्त कॉल सेंटर में कर्मचारियों ने न केवल यूएस और कनाडा में मुख्य रूप से विंडोज उपयोगकर्ताओं के साथ स्कैम किया है, बल्कि एप्पल, गूगल, डेल और एचपी डिवाइस का उपयोग करने वालों को भी टारगेट किया है। माइक्रोसॉफ्ट ने खुलासा किया है कि उसे 15 से अधिक देशों में प्रभावित ग्राहकों से 7,000 से अधिक रिपोर्ट प्राप्त हुई हैं जिनमें से सभी रिपोर्ट हाल ही में पुलिस द्वारा छापामारे गए 16 कॉल सेंटरों की थे।

यह भी पढ़े

Top 10 Computer Tricks In Hindi

Top 10 Coolest Tech Gadgets On Amazon India

Top 5 Unique Gadgets Online India

कार्रवाई के दौरान कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने फर्जी कॉल सेंटर जैसे कॉल लॉग ट्रांसक्रिप्ट, कर्मचारियों को प्रशिक्षित करने के लिए उपयोग किये जाने वाले सामान, जिससे की यह नकली कॉलर असली लगे मिला है। इसके साथ लाइव चैट हिस्ट्री (जिसमें की यह नकली कॉलर उपयोगकर्ताओं से बात कर रहे थे) और गेटवे पैमेंट के रिकॉर्ड बरामद हुए है।

उपयोगकर्ताओं को ऐसे घोटालों से बचाने के लिए, माइक्रोसॉफ्ट ने उनके खिलाफ संदिग्ध फोन कॉल या पॉप-अप संदेशों से सावधान रहने के लिए चेतावनी दी है क्योंकि माइक्रोसॉफ्ट अनचाहे पीसी या तकनीकी सहायता के लिए कभी भी आपके पास फ़ोन नहीं करता है। यदि उपयोगकर्ताओं को ऐसी संदिग्ध कॉल या सूचनाएं मिलती हैं, तो उन्हें तुरंत पुलिस में इसकी रिपोर्ट करनी चाहिए।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *